CID Or CBI Me Antar

क्या है CID Or CBI Me Antar पूरी जानकारी

नमस्ते जैसा कि हमने आपको पिछले दो पोस्टों में सीबीआई और एक पोस्ट में सीआईडी के बारे में जानकारी दी है और इन दोनों के कारणों के बारे में बताया है पर आज की हर लेख में हम विस्तार से समझेंगे कि सीबीआई और सीबीआई में क्या अंतर है – CID Or CBI Me Antar इस लेख को पढ़ने के बाद आपको सीआईडी और सीबीआई में क्या क्या अंतर है पूरा पता चल जाएगा।

CID और CBI में क्या अंतर है – CID Or CBI Me Antar

CID Or CBI Me Antar

सीबीआई और सीआईडी में अंतर जानने से पहले आपको इनके बारे में जानना होगा कि सीबीआई क्या होती है और सीआईडी क्या होती है तो आइए जानते हैं कि सीबीआई और सीआईडी क्या होती है

CID क्या है – CBI or CID Me Antar

आइए CID के बारे में बात करने से पहले हम CID Ka Full Form जान लेते हैं सीआईडी का पूरा नाम Crime Investigation Department होता है

सीआईडी को भारतीय न्याय अधिनियम के तहत गैर सरकारी संगठन के रूप में अपराधिक सूचना प्रदाता तथा खुफिया एजेंसी के रूप में पंजीकृत किया गया है जिसका कार्य किसी अपराधिक मामलों की खुफिया जांच करना है

सीआईडी  पुलिस जांच का एक खुफिया विभाग होता है जो अपराधिक मामलों की जांच करती है यह विभाग हत्या अपरहण, दंगा, चोरी तथा अन्य अपराधिक मामलों की जांच करती है

सीबीआई क्या होती है – CBI Kya Hoti Hai

सीबीआई भारत सरकार द्वारा स्थापित की गई एक जांच ब्यूरो है जिसका पूरा नाम Centeral Bureau Of Investigation है जिसे हिंदी में केंद्रीय जांच ब्यूरो भी कहते हैं। सीआईडी और सीबीआई दोनों जांच एजेंसियां हैं परंतु इन दोनोंं मे कुछ छोटे बड़ेे अंतर है जो आज हम इस लेख में जानेंगे

जानिए क्या है CID Or CBI Me Antar पूरी जानकारी

सीआईडी और सीबीआई में अंतर निम्नलिखित है
सीआईडी/CIDसीबीआई/CBI
CID भारत सरकार द्वारा किसी प्रदेश के अपराधिक मामलों की खुपिया जांच के लिए बनाई गई होतीसीबीआई  भारत सरकार द्वारा किसी राष्ट्र ओर अंतरराष्ट्रीय अपराधिक मामलों की जांच के लिए बनाई गई जांच ब्यूरो है
सीआईडी केवल आपने राज्य की जांच एजेंसी होती हैबल्की सीबीआई पूरे भारत और अन्तर्राष्ट्रीय जांच एजेन्सी है
सीआईडी को जांच करने का आदेश राज्य सरकार और हाई कोर्ट देती हैपरंतु सीबीआई को जांच करने का आदेश केंद्र सरकार उच्च न्यायालय से मिलती है
सी आई डी में भर्ती होने के लिए आपको पहले पुलिस में भर्ती होना पड़ेगा उसके बाद आप सीआईडी में भर्ती हो सकते हैंपरंतु सीबीआई में आपको भर्ती होने के लिए आपको SSC का एग्जाम देना होगा तथा उसके बाद आप जाकर सीबीआई में भर्ती हो सकते हैं
सीआईडी की स्थापना सन 1902 में हुई थीसीबीआई की स्थापना सन 1941 में की गई थी

इस लेख में हमने आपको CID Or CBI Me Antar क्या है इसके बारे मैं भी विस्तार से बताया है मिले आपको सीआईडी और सीबीआई में क्या अंतर है इसके बारे में सब कुछ पता चल गया होगा

इसे भी पढ़ें : NRC Bill Kya Hai Or Kiyu Banaya Gya – NRC Ka Full Form

FAQ : Frequency Ask Questions

प्रश्न 1: सीबीआई ऑफिसर का क्या पावर है – CBI Ki Kya Power Hai

कानून और व्यवस्था एक राज्य का विषय है और राज्य पुलिस के साथ अपराध की जांच करने के लिए मूल अधिकार क्षेत्र है। इसके अलावा, सीमित संसाधनों के कारण, सीबीआई सभी प्रकार के अपराधों की जांच करने में सक्षम नहीं होगी। सीबीआई

प्रश्न 2 : सीबीआई ऑफिसर की तनख्वाह कितनी होती है

उत्तर :- ग्रेड पे: INR 4600 (7 वीं CPC के लिए ग्रेड INR 4200 था)। लेवल 7 के तहत बेसिक पे शुरू INR 44900। CBI सब इंस्पेक्टर बेसिक पे + डीए का 25% स्पेशल इंसेंटिव अलाउंस (SIA) यानि

प्रश्न 3 : सीबीआई अधिकारी के लिए कौन सा विषय सबसे अच्छा है?

उत्तर :- यह देखना अच्छा है कि आप इतनी कम उम्र में सीबीआई में शामिल होने की प्रक्रिया को जानने के इच्छुक हैं। चरण 1- किसी भी स्ट्रीम के साथ 12 वीं कक्षा से आगे और स्पष्ट कार्य पर ध्यान दें, यह कला, वाणिज्य या विज्ञान है।

CID Or CBI Me Antar  (निष्कर्ष/Conclusion)

सीआईडी भारत सरकार द्वारा किसी राज्य के अपराधिक मामलों की जांच करने के लिए बनाई जाती है तथा वही सीबीआई भारत के किसी भी राज्य तथा अंतरराष्ट्रीय अपराधिक मामलों की जांच के लिए बनाई गई एक जांच एजेंसी है

सीआईडी का जांच करने का कार्य एक राज्य तक ही रहता है जिस राज्य की वह सीआईडी होती है

परंतु सीबीआई का जांच करने का कार्य पूरे भारत और विश्व में होता है चाहे सीबीआई किसी भी राज्य की क्यों ना हो

उम्मीद है आपको या लेख पसंद आया होगा ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए आप हमारे ब्लॉग को बुकमार्क कर ले ताकि आपके तक ऐसे ही ज्ञान भरे लेख पहुंचते रहे

Leave a Comment